मेरी प्रिय मित्र मंडली

शुक्रवार, 1 मार्च 2019

हार्दिक अभिनन्दन !

Image result for विंग कमांडर अभिनन्दन चित्र
वीर अभिनन्दन !    हार्दिक अभिनन्दन  ! 
 तुम्हारे   शौर्य  को  कोटि  वन्दन !

 पुलकित , गर्वित  माँ  भारती 
 तुम्हारे   निर्भीक   पराक्रम से ,
 मृत्यु -  भय से हुए ना विचलित 
  ना चूके संयम से ,
सिंह पुत्र  तुम जननी के  
 सहमा शत्रु नराधम !!

 शत्रु भूमि पर   जा देखो 
 मातृभूमि का मान बढ़ाया  ,
अर्जित की अखंड कीर्ति   
 ना पीछे कदम हटाया ,
मान -मर्दन किया   पापी का 
 रहा  अडिग हिमालय सा तन !

 कोटि नैन बिछे पथ में 
स्वागत को आज  तुम्हारे  ,
 एक कुटुंब सा जुटा राष्ट्र 
 अपलक तुम्हे   निहारे ,
 तुम्हारा यश रहे  अमर  जग में
  पुकार रहा  यही जन - जन !! 

  
स्वरचित -- रेणु
चित्र --गूगल से साभार --

28 टिप्‍पणियां:


  1. कोटि नैन बिछे पथ में-
    स्वागत को आज तुम्हारे .
    एक कुटुंब सा जुटा राष्ट्र -
    अपलक तुम्हे निहारे ;
    तुम्हारा यश रहे अमर जग में-
    पुकार रहा यही जन - जन !!!!!!!

    जी दी।
    बहुत सुंदर रचना,भारत माता के वीर पुत्र के सम्मान में, कल कुछ ऐसा ही वातावरण रहा।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. हार्दिक आभार आपका शशि भाई | माँ भारती के वीर सपूत को कोटि नमन |

      हटाएं
  2. शत्रु भूमि पर जा देखो -
    मातृभूमि का मान बढ़ाया ,
    अर्जित की अखंड कीर्ति -
    ना पीछे कदम हटाया ;
    मान मर्दन किया पापी का
    रहा अडिग हिमालय सा तन !!
    भारत माता के वीर पुत्र को नमन 🙏🙏
    बहुत ही सुन्दर रचना आदरणीय रेणु दी |
    सादर

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रिय अनिता -- स्नेहिल शब्दों के लिए आपका आभार |

      हटाएं
  3. वीर अभिनन्दन ! हार्दिक अभिनन्दन !
    तुम्हारे शौर्य को कोटि वन्दन !
    सच सखी, कल का दिन तो इतिहास बन गया ये वीर पुत्र तो मृत्यु को चकमा दे दुश्मनो को उनकी औकात दिखाकर वापस आया है ,उस वीर के साथ साथ उसके जन्मदाता को भी सत सत नमन ,और तुम्हारी रचना तो लाजबाब है ही

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. तुमने सच कहा प्रिय कामिनी -- कल का दिन इतिहास में सुनहरी अक्षरों में लिखा जाएगा | तुम्हारेस्नेहिल शब्द अनमोल हैं | सस्नेह --

      हटाएं
  4. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (03-03-2019) को "वीर अभिनन्दन ! हार्दिक अभिनन्दन" (चर्चा अंक-3263) पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत सुंदर रचना। जय भारत। जय हिंद।
    मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।
    iwillrocknow.com

    जवाब देंहटाएं
  6. उत्तर
    1. प्रिय नीतू आपको बहुत दिनों के बाद यहाँ देखकर बहुत ख़ुशी हुई | सस्नेह आभार |

      हटाएं
  7. सुंदर प्रस्तुति प्रिय रेणु जी हार्दिक अभिनन्दन अभिनन्दन का

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रिय अनुराधा जी आपके स्नेह के लिए हार्दिक आभार

      हटाएं
  8. बहुत ही सुन्दर यशगान वीर अभिनंदन के अभिनंदन में....
    शत शत नमन माँ भारती के वीर सपूत को एवं शत शत नमन वीर शहीदों को।
    बहुत ही लाजवाब रचना...

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रिय सुधा जी -- मेरी हर रचना आपके शब्दों के बिना अधूरी है | सस्नेह आभार सखी |

      हटाएं
  9. पाञ्चजन्य उद्घोष है जय का,
    समर सुर का स्यंदन है.
    भारत माँ के भाल का चन्दन,
    अभिनन्दन! अभिनन्दन है......... बधाई!!! आपने जिन सुन्दर शब्दों में शौर्य स्तुति की है, स्तुत्य है.

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आदरणीय विश्वमोहन जी -- आपकी काव्यात्मक टिप्पणी मूल रचना से कहीं सुंदर है | सादर आभार |

      हटाएं

  10. कोटि नैन बिछे पथ में-
    स्वागत को आज तुम्हारे .
    एक कुटुंब सा जुटा राष्ट्र -
    अपलक तुम्हे निहारे ;
    तुम्हारा यश रहे अमर जग में-
    पुकार रहा यही जन - जन !!!!!!!




    अभिनन्दन का अभिनन्दन ... पिछले दिनों की परिस्थितियों को आपने शब्द दे दिए | वास्तव में हमाऋ सेना के वीर जवान अभिनन्दन ने अपनी वीरता का परिचय दे कर हम सभी के ह्रदय में अपनी जगह बना ली | .... बहुत ही सुंदर रचना

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रिय वन्दना जी आभारी हूँ आपकी भावपूर्ण प्रतिक्रिया के लिए |
      वीर अभिनन्दन के अभिनन्दन के लिए मेरे शब्द बहुत कम पड़ रहे हैं | बस छोटी सी कोशिश की थी| सस्नेह आभार आपका |

      हटाएं
  11. नमन है माँ भारती के वीर पुत्र को जिसने हर देशवासी का माथा गर्व से ऊंचा कर दिया ... साहर और शौर्य टपकता है जिसके पसीने से ...
    बहुत ही ग़ज़ल अभिनन्दन है आपके शब्दों में जो हस किसी के दिल की आवाज़ है ... हर किसी की भावना को शब्द दिए हैं आपने ... आभार आपका ...

    जवाब देंहटाएं
  12. रेणु दी,वीर अभिनंदन का बहुत ही सुंदर यशगान किया है आपने।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रिय jyoti बहन , आपका हार्दिक आभार !! 🙏🙏🙏🙏

      हटाएं
  13. आदरणीया मैम ,
    पुलवामा हमले के बाद की गयी एयर स्ट्राइक के नायक वीर अभिनंदन वर्धमान के स्वागत में लिखी बहुत ही सुंदर व् उत्साहवर्धक कविता। मुझे अभी भी वह पीड़ा याद है जब सुबह सुबह अपना मोबाइल खोलते ही यह समाचार व्हाट्सएप्प पर छाया हुआ था और वह उत्साह भी जब इसके बाद हमारी एयर स्ट्राइक सफल हुई। वीर अभिनंदन वर्धमान व हमारे सभी वीर सैनिकों को नमन।
    ह्रदय से आभार व सादर नमन।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. बहुत बहुत आभार और प्यार प्रिय अनंता | आप ऐसी घटनाओं को इतनी आत्मीयता से देखती हैं और उनके प्रति संवेदनशील हैं ये बहुत ही अच्छी बात है | वीर अभिनन्दन हमेशा समस्त राष्ट्र के चहेते और प्रेरक नायक रहेंगे | उनके साथ सभी सैनिकों का हार्दिक अभिनन्दन |

      हटाएं

Yes

विशेष रचना

चाँद नगर सा गाँव तुम्हारा ----- कविता ---

चाँद नगर सा गाँव तुम्हारा   भला ! कैसे पहुँच पाऊँगी मैं ?  पर ''इक रोज मिलूंगी तुमसे  '' कह जी को बहलाऊंगी मैं ! मौन...